Home > Local News > हरिद्वारः बैंक कर्मचारियों ने मांगों को लेकर की एकदिवसीय हड़ताल

हरिद्वारः बैंक कर्मचारियों ने मांगों को लेकर की एकदिवसीय हड़ताल

 Agencies |  2017-02-28 19:09:04.0  0  Comments

हरिद्वारः बैंक कर्मचारियों ने मांगों को लेकर की एकदिवसीय हड़ताल

हरिद्वारः बैंकों का नियमित कार्य बाहरी स्रोतों से कराये जाने व अन्य समस्याओं पर बैंक कर्मचारियों में आक्रोश बना हुआ है। अपनी विभिन्न मांगों को लेकर यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन से जुड़े बैंक कर्मचारियों ने पूर्ण रूप से कार्य बहिष्कार कर हड़ताल पर रहे बैंक कर्मचारियों ने जोरदार नारेबाजी कर केन्द्र सरकार के खिलाफ नाराजगी प्रकट की। यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के जिलाध्यक्ष एन0बी0 कपूर ने कहा कि बैंक कर्मचारी अधिकारी लगातार उपभोक्ताओं को अपनी सेवायें प्रदान करते चले आ रहे हैं लेकिन काफी समय से बैंक कर्मचारियों की लम्बित मांगो को पूरा नहीं किया जा रहा है। बाहरी स्रोतों से कार्य लिये जाने की बात कही जा रही है जो कि किसी भी रूप में बर्दाश्त नहीं की जायेगी। नोटबंदी के दौरान बैंक कर्मचारियों ने बढ़ चढ़कर उपभोक्ताओं का सहयोग किया समयावधि से अधिक कार्य कर अपनी बेहतर सुविधायें प्रदान की। उन्होंने कहा कि बैंकों की विभिन्न व्यवस्थाओं में सुधार लाया जाये कर्मचारियों के हितों को ध्यान में रखकर सरकार को फैसले लेने होगें।

जिला सचिव राजकुमार सक्सेना ने कहा कि केन्द्र द्वारा नोटबंदी का निर्णय लिया गया बैंक कर्मचारियों अधिकारियों ने अपनी सेवायें लगातार उपभोक्ताओं को दी किसी भी प्रकार की परेशानियों से निपटते हुए कार्य किया। लेकिन लगातार सरकार बैंकों पर अतिरिक्त भार डालने का काम कर रही है। नोटबंदी के दौरान कई कर्मचारी व अधिकारियों को उपभोक्ताओं के गुस्से का शिकार भी होना पड़ा। उन्होंने कहा कि किसी भी सूरत में कर्मचारियों के शोषण को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। विभिन्न मांगों को जल्द से जल्द पूरा किया जाये। धीरज बिष्ट ने कहा कि उपभोक्ताओं को लगातार नित नये नियमों की जानकारी भी बैंक कर्मचारी अधिकारी समय-समय पर देते हैं बैंकिग व्यवस्थाओं को लागू कराने में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं की जाती हैं। उन्होंने कहा कि बाहरी स्रोतों से कार्य लेना कतई भी बर्दाश्त नहीं किया जायेगा जबकि हड़ताल के कारण धर्मनगरी के उपभोक्ताओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। कामकाज बुरी तरह प्रभावित रहे। --हाक न्यूजलाईन

Tags:    
Share it
Top